Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

प्रे.सं.हाइलाकांदी, 10 जनवरी ः आज हैलाकांदी में जिलाधिकारी कार्यालय के निकट शहीद वेदी के पास राष्ट्रभाषा व चायजनगोष्ठी उन्नयन मंच के द्वारा अपनी मांगों के समर्थन में धरना-प्रदर्शन किया गया।

धरना स्थल पर समाजसेवी घनश्याम पाण्डेय, दिलीप कुमार, महावीर बरदिया, राजकुमार भर, रवि शुक्ला, विप्लव राय, जयप्रकाश पाण्डेय, विनोद कोल, आदि ने अपने वक्तव्य में सरकार से चायजनगोष्ठी के शोषण, उत्पीड़न, उपेक्षा का हवाला देते हुए कहा कि सरकार को उनके मुलभूत शिक्षा, स्वास्थ्य, जमीन, नौकरी इत्यादि में 30 प्रतिशत आरक्षण, उनके अधिकारों के संरक्षण हेतु उन्नयन परिषद तथा सभी चायजनगोष्ठी के छात्रों को उनकी प्राथमिक शिक्षा हिन्दी माध्यम में प्रदान किया जाय। घटनास्थल पर बीच-बीच में प्रदर्शनकारी नारों से आसमान गुँजाते रहे। धरना के बाद अतिरिक्त जिलाधिकारी रुथ लांथासा को मिलकर प्रतिनिधिमण्डल ने असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनवाल के नाम ज्ञापन सौंपा। श्रीमती रुथ लांथासा ने कहा कि जितने विद्यालयों में हिन्दी पुस्तक नहीं मिल रही है, उनका पता लगाके हिन्दी पुस्तक की व्यवस्था करवायेंगी। इसके अलावा उन्होेंने आश्‍वासन दिया कि वे सरकार को राष्ट्रभाषा एवं चायजनगोष्ठी उन्नयन मंच के मांगों के बारे में सूचित करेंगी। धरना में उपस्थित प्रमुख व्यक्तियों में जवाहरलाल राय, प्रकाश चंद सुराणा, बबलु उपाध्याय, बलराम नुनिया, ब्रजकिशोर गोड़, मनोज पाण्डेय, शिलचर से रितेश नुनिया, पवन कुर्मी के अलावा स्थानीय लोगों में किरण हजाम, सुदर्शन साहु, दूधनाथ बीन, अभिषेक पाण्डे, नारायण नुनिया, प्रीतम रविदास, मुन्ना लोरिया, गौतम तेली, बाबुल कालिन्दी, करण राजवाड़, राजेश गोस्वामी, रवि चरण भुमिच, संजीत केवट, छोटेलाल कोल, अनिल गोड़, शिवनारायण प्रजापति उपस्थित थे।