Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A


प्रे.सं.शिलचर, १२ मई : प्रधानमंत्री की स्वप्निल योजना डिजीटल इंडिया के अन्तर्गत ‘एक कदम कैशलेश इकोनामी की ओरङ्क पर एक दिवसीय कार्यशाला आज राजीव भवन में सम्पन्न हुई। छोटे व्यापारियों को (डिजिटल पेमेन्ट इनिसिएटिव) जागरुक करने के लिए आज सुबह ११.०० बजे से अपरान्ह २.३० बजे तक दो सत्रों में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रशिक्षण सत्र में स्टेट बैंक आफ इंडिया के रिलेशनशिप आफिसर वरुण जैन, बैंक आफ इण्डिया की कु. अंकिता qसह, पेटीएम के शाहिल आलम मजुमदार ने कैशलेश इकोनामी के फायदों के बारे में समझाया। डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, मोबाइल एप, आनलाइन पेमेन्ट आदि विषयों पर विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी।
    उद्घाटन सत्र में राष्ट्रीय इलेक्ट्रानिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान गौहाटी (एनआईइएलआईटी) के निदेशक डॉ. के. बरुआ, इक्सटेन्शन सेण्टर शिलचर के अति. निदेशक, मानव कलिता, अतिरिक्त जिलाधिकारी रणदीप दाम, एमसी दास कालेज सोनाई के प्रधानाचार्य बहारुल इस्लाम लस्कर, हाफलांग गवर्मेन्ट कालेज के आसि. प्रोफेसर डॉ. शंकर नियोगी ने अपने-अपने वक्तव्य में उपस्थित प्रशिक्षणार्थियों को कैशलेश इकोनामी के प्रयोग की अपील की। कान्फिडरेशन आफ आल इंडिया टेडर्स (सीएआइटी) व भारत सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सहयोग से कार्यशाला का आयोजन किया गया। नैलिट गौहाटी के वैज्ञानिक पियुष श्रीवास्तव ने धन्यवाद ज्ञापन किया। वरिष्ठ तकनीकी सहायक आशीष दे मजुमदार व तकनीकी सहायक समीक गुप्ता ने आगन्तुकों का स्वागत किया। कार्यशाला के पश्चात प्रशिक्षणार्थियों के मध्यान्ह भोजन की व्यवस्था भी की गयी थी।