Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

नईदिल्ली, (समा.एजें) २ अगस्त : भारत और श्रीलंका के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच आज यानी ३ अगस्त गुरुवार से कोलंबो में खेला जाएगा।

गाले में खेला गया पहला मैच जीतकर टीम इंडिया पहले ही तीन मैचों की सीरीज में १-० की बढ़त ले चुकी है। टीम इंडिया इस मैच को जीतकर सीरीज को अपने नाम करने के इरादे से उतरेगी। मैच से पहले टीम के कोच रवि शास्त्री ने भरोसा जताया है कि विराट कोहली की कप्तानी वाली मौजूदा टीम में वो कमाल करने की ताकत है जो टीम के पूर्व सीनियर प्लेयर्स नहीं कर सके थे। विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम फिलहाल दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम है। टीम इंडिया अगर इस मैच को जीत जाती है, तो विराट की लीडरशिप में विदेशी धरती पर ये उसकी छठवीं जीत होगी। विराट की कप्तानी में टीम इंडिया ने अबतक विदेश में ११ मैच खेले हैं जिनमें से ५ जीते हैं। वहीं भारत अगर इस मैच को जीत जाता है तो फिर विराट विदेश में जीत के मामले में पूर्व कप्तान एमएस धोनी की बराबरी कर लेंगे। एमएस धोनी की कप्तानी में भारत ने विदेश में कुल ३० मैच खेले, जिसमें से केवल ६ मैचों में ही टीम को जीत मिली। जबकि विराट के सामने करियर के १२वें (विदेश में) मैच में ही धोनी की बराबरी करने का मौका है। जीत के पर्सेंट की बात करें, तो धोनी की कप्तानी में विदेश में खेले गए मैचों में भारत को केवल २०% मैचों में ही जीत मिली। जबकि विराट की कप्तानी में अबतक विदेश में खेले गए मैचों में टीम इंडिया का जीत का पर्सेंट ४५ है। अगर भारत ये मैच जीत जाता है तो ये प्रतिशत ५० हो जाएगा। विदेश में सबसे ज्यादा मैच जीतने का रिकॉर्ड पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के नाम पर है, जिनकी कप्तानी में भारत ने ११ मैच जीते थे।  इससे पहले भारत ने जब २०१५ में श्रीलंका का दौरा किया था जब भी विराट की लीडरशिप में टीम ने २२ सालों बाद श्रीलंका में २-१ से सीरीज जीती थी। मैच से पहले टीम के हेड कोच रवि शास्त्री ने दूसरे टेस्ट को लेकर कहा कि मौजूदा टीम के खिलाड़ियों ने पिछले दो सालों में काफी सुधार किया है और वे बेहतर रिजल्ट देने में सक्षम हैं। शास्त्री के मुताबिक ङ्कपिछले दो दशकों में भारतीय टीम में कई सीनियर प्लेयर्स शामिल रहे लेकिन वे कभी श्रीलंका की जमीन पर टेस्ट सीरीज नहीं जीता सके लेकिन विराट की टीम ने पिछले ही टूर में २० साल से भी ज्यादा समय बाद भारत को यह अचीवमेंट दिला दिया।ङ्क  शास्त्री ने विराट की को एमएस धोनी से कंपेयर करते हुए कहा, ङ्कजिस तेजी से विराट आगे बढ़ रहे हैं वे जल्द ही धोनी की बराबरी कर लेंगे। उन्होंने कहा, ङ्कमैं पिछले ३५ सालों से क्रिकेट से बतौर खिलाड़ी, कमेंटेटर और कोच के रूप में जुड़ा हुआ हूं और मैंने सचिन तेंडुलकर के अलावा अन्य किसी खिलाड़ी को उस तेजी से रिकॉर्ड तोड़ते नहीं देखा जैसा अब विराट कर रहे हैं।ङ्क- पिछले श्रीलंका टूर में शास्त्री टीम के साथ बतौर डायरेक्टर गए थे लेकिन इस बार वे कोच के रूप में यहां आए हैं और इस रोल में ये उनका पहला टूर भी है। भारतीय कप्तान विराट कोहली अपने टेस्ट करियर में अबतक १७ सेन्चुरी लगा चुके हैं, इनमें से १० सेन्चुरी उन्होंने बतौर कप्तान लगाई है।  कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा सेन्चुरी लगाने का इंडियन रिकॉर्ड सुनील गावसकर के नाम हैं, जिन्होंने ११ सेन्चुरी लगाई थी। अब विराट उनकी बराबरी करने से केवल १ सेन्चुरी दूर हैं।  पहले मैच में भारत के टॉप ऑर्डर बैटिंग लाइन अप ने शानदार परफॉर्म किया। शुरुआती चारों बैट्समैन ने दोनों इनिंग में से एक इनिंग में अपना जलवा दिखाया। जिसमें धवन, पुजारा और विराट ने तो सेन्चुरी भी लगाई।  अब कप्तान और कोच के सामने दिक्कत इस बात की है कि दूसरे टेस्ट में लोकेश राहुल के फिट होने के बाद किसे मौका दिया जाए और किसे बाहर किया जाए। टीम में २-३ जगह के लिए ४-५ बैट्समैन कॉम्पटीशन कर रहे हैं।  इस बारे में पूछे जाने पर कप्तान विराट ने मीडियाकर्मियों से कहा, ङ्कहां ये बेहद मुश्किल स्थिति है। हमारे टॉप चार बैट्समैन शानदार परफॉर्म कर रहे हैं। यूं तो शिखर को मेलबोर्न में होना चाहिए था। लेकिन गाले टेस्ट में उन्होंने १९० रन बना डाले, इसलिए जीवन में कुछ भी हो सकता है।