Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

रांची (स‘ा.एजें) २४ जनवरी : बहुचर्चित चारा घोटाला के मामले में केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने आज दोषी करार दिये गये राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र को पांच-पांच साल के सश्रम कारावास तथा १०-१० लाख रुपये जुर्माना भरने की सजा दी

सीबीआई के न्यायाधीश एसएस प्रसाद की अदालत में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री श्री यादव, श्री मिश्र, पूर्व सांसद जगदीश शर्मा समेत ५० लोगों को दोषी करार दिये जाने के तुरंत बाद सजा के बिंदु पर सनवाई हुई। न्यायाधीश ने सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद श्री यादव और डा० मिश्र के साथ पूर्व सांसद जगदीश शर्मा और आरके राणा को भारतीय दंड संहिता की धारा १२०बी, ४०९, ४२०, ४६७, ४६८, ४७१ और ४७७ ए के तहत पांच-पांच साल के सश्रम कारावास के साथ पांच-पांच लाख रुपये जुर्माना तथा भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धारा १३ :२: के तहत भी पांच-पांच साल की सजा के साथ पांच-पांच लाख रुपये अर्थदंड भी लगाया है। दोनों सजाएं साथ चलेंगी लेकिन उन्हें जुर्माने की राशि १०-१० लाख रुपये देनी होगी। न्यायाधीश ने इसी मामले में लोक लेखा समिति के तत्कालीन अध्यक्ष ध्रुव भगत और पूर्व पशुपालन मंत्री विद्या सागर निषाद को तीन-तीन साल के सश्रम कारावास के साथ डेढ़-डेढ़ लाख रुपये जुर्माना तथा भारतीय प्रशासनिक सेवा के तीन पूर्व अधिकारियों फूलचंद्र सिंह, महेश प्रसाद, सजल चक्रवर्ती को चार-चार वर्ष के कारावास के साथ दो-दो लाख रुपये जुर्माना भरने की सजा सुनाई । चारा घोटाला का यह मामला चाईबासा कोषागार से ३३ करोड़ ६२ लाख रुपये की अवैध निकासी का है।