Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

पटना (समा.एजें) १ जून :. आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के पुत्र और बिहार के स्?वास्?थ्?य मंत्री तेज प्रताप यादव के खिलाफ मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है.

पेटड्ढोल पंप मामले में भारत पेटड्ढोलियम कोरपोरेशन ने तेज प्रताप के पेटड्ढोल पंप के खिलाफ नोटिस जारी किया है. नोटिस के क्लॉस ७ का हवाला देते हुए लिखा गया है- ‘डीलरशिप के लिए उसी आवेदनकर्ता का चयन किया जाता है तो डीलरशिप से जुड़े हुए दिन प्रतिदिन के काम का ध्यान रख सके और उन्हें संभाल सके. वह किसी अन्य रोजगार के पात्र नहीं होंगे. अगर पेटड्ढोल पंप के लाइसेंस के लिए चयनित शख्स के पास पहले से रोजगार है तो उसे डीलर के रूप में नियुक्ति से पहले रोजगार से इस्तीफा देना होगा.ङ्क इस लिहाज से पेटड्ढोल पंप की डीलरशिप रखने के लिए तेज प्रताप को मंत्री पद छोड़ना पड़ेगा. तेज प्रताप पर गैरकानूनी तरीके से पेटड्ढोल पंप आवंटित कराने का आरोप है. तेज प्रताप ने को २०११ में बेउर के पास न्यू बाइपास रोड पर भारत पेटड्ढोलियम का एक पेटड्ढोल पंप आवंटित किया गया था. नोटिस जारी करके बीपीसीएल ने इस मामले में तेज प्रताप से जवाब मांगा है. इस मामले में जवाब देने के लिए उन्हें १५ दिन का समय दिया गया है. अगर वह इन सवालों का जवाब नहीं दे पाते हैं तो उनके पेटड्ढोल पंप का लाइसेंस रद्द हो सकता है.

पेटड्ढोल पंप आवंटन को लेकर बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्य के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने आरोप लगाया था कि बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप को २०११ में पटना के बेउर के पास न्यू बाइपास रोड पर भारत पेटड्ढोलियम का एक पेटड्ढोल पंप आवंटित किया गया. इससे पहले तेल कंपनी के एक अधिकारी के साथ साठगांठ करके फर्जी कागजात तैयार किए गए. उन्होंने कहा कि तेज प्रताप जब २०११ में पेटड्ढोल पंप के लिए एक साक्षात्कार के लिए पेश हुए तब उनके पास न्यू बाइपास रोड पर ४३ डिसमिल भूमि नहीं थी. एके इंफोसिस्टम प्राइवेट लिमिटेड ने नौ जनवरी २०१२ को इसी स्थान पर १३६ डिसमिल भूमि तेज प्रताप के छोटे भाई और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव को पेटड्ढोल पंप खोलने के लिए पट्टे पर दी. उन्होंने कहा कि पट्टानामा के मुताबिक तेजस्वी इस भूमि को उपपट्टे पर नहीं दे सकते हैं. बीजेपी नेता ने इस मामले में जांच की मांग करते हुए कहा था, ‘तेज प्रताप को कैसे पेटड्ढोल पंप आवंटित किया जा सकता है जब न भूमि और न ही भूमि का पट्टा उनके नाम पर था? मामले की संपूर्ण जांच होनी चाहिए. मैं मामले की जांच कराने के लिए केंद्रीय पेटड्ढोलियम मंत्री धमेंद्र प्रधान से अनुरोध करूंगा.ङ्क उन्होंने आरोप लगाया कि तेज प्रताप यादव को गैरकानूनी तरह से पेटड्ढोल पंप का आवंटन किया गया.