Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

लखनऊ, (एजें) १२ अक्टूबर २०१७ः उत्तर प्रदेश में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों को बाहर निकलाने का अभियान शुरू हो गया है.

बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था को लेकर हुई उच्चस्तरीय बैठक में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों की पहचान करके उन्हें बाहर निकालने का आदेश दिया है. दरअसल, जिलों के पुलिस अधिक्षकों (डझ) ने राज्य में कानून व्यवस्था बिगाड़ने के लिए इन अवैध घुसपैठियों को भी जिम्मेदार ठहराया था, जिसके बाद योगी सरकार ने इनकी पहचान करके बाहर निकालने का आदेश दिया है. मुख्यमंत्री योगी के साथ बैठक के बाद यूपी पुलिस ने अवैध विदेशी नागरिकों के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया है. एडीजी (कानून व्यवस्था) आनंद कुमार ने कहा कि अवैध रूप से रह रहे विदेशी नागरिकों को हटाने के लिए अभियान चलाया जाएगा. इन बांग्लादेशी नागरिकों के खिलाफ अभियान चलाने के लिए रोडमैप तैयार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि रोडमैप तैयार कर अवैध विदेशी नागरिकों को प्रदेश से बाहर किया जाएगा. अवैध बांग्लादेशी नागरिकों के साथ सभी अवैध विदेशी नागरिको के दस्तावेजों की जांच होगी. इससे पहले केंद्र सरकार अवैध घुसपैठियों को लेकर चिंता जाहिर कर चुकी है. लोकसभा में गृह मंत्रालय ने लिखित जवाब में कहा था कि भारत में बांग्लादेशी नागरिकों की अवैध घुसपैठ चिंता का विषय है. लोकसभा में किरण रिजिजू ने कहा कि चूंकि अवैध अप्रवासी चोरी-चोरी बिना वैध यात्रा दस्तावेजों के भारत प्रवेश करते हैं. इसलिए अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों की संख्या के बारे में कोई सटीक जानकारी नहीं है. गृह मंत्रालय ने लिखित जवाब में कहा कि उपलब्ध सूचना के अनुसार विगत तीन वर्षों और चालू वित्त वर्ष के दौरान १५ हजार से अधिक अवैध बांग्लादेशी घुसपैठिए गिरफ्तार किए गए. वहीं इन तीन वर्षों में १७५० से अधिक बांग्लादेशी नागरिकों को देश से निर्वासित किया गया. साथ ही इसी अवधि के दौरान सौ से अधिक पाकिस्तानी घुसपैठिए पकड़े गए, जिनमें से लगभग ५० घुसपैठिए पाकिस्तानी रेंजर्स को सौंपे गए.