Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

नई दिल्ली (एजें) १४ दिसंबर : नोटबंदी के बाद रिवाइज्ड आयकर रिटर्न का दुरूपयोग करने वालों पर कार्रवाई होगी. आयकर विभाग को आशंका है कि इसका फायदा उठाकर लोग अपने कालेधन को सफेद कर सकते हैं.

नोटबंदी के बाद करदाताओं ने अगर अपनी आय छिपाने के लिए टैक्स रिटर्न फॉर्म में हेरफेर किया, तो उन्हें जेल जाना पड़ सकता है. सेंटड्ढल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने बुधवार को यह चेतावनी जारी की है कि नोटबंदी के बाद जिन लोगों के टैक्स रिटर्न में फेरबदल नजर आएगा, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट उनकी जांच करने की तैयारी कर रहा है. सीबीडीटी के मुताबिक इनकम, इन हैंड कैश या मुनाफे में अगर बड़ा बदलाव दिखा तो उसकी गहराई से जांच की जाएगी और गड़बड़ी मिलने पर जुर्माना भी लगाया जाएगा. बड़ी गड़बड़ी मिलने पर टैक्सपेयर्स को जेल भी जाना पड़ सकता है और रिटर्न के अलावा अगर बही-खातों में किसी तरह का फेरबदल होता है तो वो भी जांच के दायरे में आ सकता है. आयकर रिटर्न के नियमों के मुताबिक भूलचूक होने पर दोबारा रिटर्न भरने का प्रावधान है, इसमें अपनी आय बदलकर दिखाने और उसी हिसाब से टैक्स भरकर संशोधित आयकर रिटर्न भरने की व्यवस्था होती है, आयकर विभाग ने हिदायत दी है कि नोटबंदी के बाद अपना काला धन सफेद करने की कोशिश करने वालों पर नजर रखे हैं और ऐसा करने वाले के खिलाफ जांच होगी. जांच में गलत पाये जाने वालों को जुर्माना भुगतना पड़ सकता है साथ ही जेल भी हो सकती है. ब्लैकमनी रखने वालों के खिलाफ सरकार जो अभियान चला रही है उसी कड़ी में सीबीडीटी की चेतावनी को अगला कदम माना जा रहा है. सरकार ने पहले ही ऐलान कर दिया था कि काले धन के मालिक किसी भी कीमत पर बख्शे नहीं जाएंगे और उनके बच निकलने के सारे रास्ते सरकार बंद कर रही है. ऐसे में अगर कोई सोच रहा था कि अपनी संपत्ति बढ़ाकर और उसका रिवाइज्ड रिटर्न भरकर वो काले धन को सफेद कर लेंगे, ये खबर उनके मंसूबों पर पानी फेरने वाली साबित होगी.