Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

अस्ताना.(समा.एजें) ९ जून : आतंकवाद को मानवाधिकारों का सबसे बड़ा उलंघनकारी बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पाकिस्तान को आईना दिखाया और शंघाई सहयोग संगठन(एससीओ) के सदस्य देशों से इसके विरुद्ध संयुक्त अभियान चलाने का आह्वान किया.

मोदी ने यहां शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि आतंकवाद के वित्त पोषण का मामला हो या प्रशिक्षण का इससे निपटने के लिए सदस्य देशों को समन्वित प्रयास करने होंगे. उन्होंने कहा कि संगठन के समक्ष आतंकवाद, अलगाववाद और कट्टरता से संघर्ष मुख्य काम हैं. भारत और संगठन के सदस्य देशों के आपसी सहयोग से आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष को नई गति मिलेगी. प्रधानमंत्री ने कहा, मुझे पूरा विश्वास है कि भारत-संघाई सहयोग संगठन के बीच सहयोग आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को एक नई दिशा तथा शक्ति प्रदान करेगा. उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय एवं वैश्विक परिपेक्ष्य में यह संगठन शांति तथा सुरक्षा का एक मुख्य स्तम्भ है. सदस्य देशों के साथ संपर्क भारत की प्राथमिकता है और हम इसका भरपूर समर्थन करते है. प्रधानमंत्री ने इससे पूर्व संगठन का पूर्ण सदस्य बनने में मदद के लिए चीनी नेंतृत्व को धन्यवाद दिया. भारत १२ वर्ष के बाद आज संघाई सहयोग संगठन की सदस्यता ग्रहण कर रहा है. चीन, रुस, कजाकिस्तान, किरगिजिस्तान, ताजिस्तान, तथा उजबेकिस्तान इसके संस्थापक सदस्य हैं. नवाज शरीफ ने डउज में शामिल होने के लिए भारत को बधाई दी. उन्होंने कहा कि डउज सदस्यों के बीच अच्छे रिश्ते बेहद जरूरी हैं. शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान आतंक का पीड़ित रहा है. ऐसे में डउज आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अहम भूमिका निभाएगा।