Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

नई दिल्ली (एजें) २४ जून : यूपी, पंजाब की तरह महाराष्ट्र में भी किसानों को कर्ज माफी की सौगात मिल गई।

हालांकि सरकार ने इसका वादा पहले ही कर दिया था, शनिवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य के ९०% किसानों के कर्ज को माफ करने की घोषणा की। किसानों का १.५ लाख रुपये तक का कर्ज माफ कर दिया गया है। इसका फायदा राज्य के ८९ लाख किसानों को होगा। इसके अलावा सरकार नियमित रूप से कर्ज का भुगतान करने वाले किसानों को भी अधिकतम २५ हजार रुपये तक प्रोत्साहन राशि देगी। सरकार ने इसे ङ्कछत्रपति शिवाजी महाराज कृषि सम्मान योजनाङ्क का नाम दिया है और इससे सरकारी खजाने पर ३४ हजार करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा, ङ्कइस फैसले से पड़ने वाले बोझ के बारे में जानते हैं और हम इसके लिए अपने खर्चों में कटौती करेंगे। सभी मंत्री और विधायक किसानों की मदद के लिए १ महीने का वेतन दान करेंगे।ङ्क बता दें, राज्य सरकार पर कर्ज माफी का काफी दबाव था। सरकार ने इसके लिए एक उच्चाधिकार प्राप्त मंत्री समूह का गठन किया था। किसान एक बार फिर २५ जुलाई से आंदोलन की चेतावनी दे चुके थे। महाराष्ट्र विधानसभा का अगला सत्र भी शुरू होने वाला है। कर्ज माफी का ऐलान ऐसे समय में हुआ है जब केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू इसे फैशन बता चुके हैं। उन्होंने कहा था कि लोन माफ करना समस्या का आखिरी समाधान नहीं है। इससे पहले यूपी, पंजाब और कर्नाटक में भी किसानों का कर्ज माफ किया जा चुका है। कर्नाटक सरकार ने राज्य के २२ लाख किसानों के सहकारी बैंकों से लिए ५०,००० रुपये तक के फसल ऋण माफ करने का फैसला किया तो पंजाब में भी मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अपने चुनावी वादों को पूरा किया। राज्य में १०.२५ लाख किसानों का लोन माफ किया गया है। पंजाब पर इस कर्ज माफी से २४ हजार करोड़ का भार पड़ेगा।