Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

नई दिल्ली (समा.एजें) २१ अगस्त : केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि भारत ने कभी किसी देश पर आक्रमण नहीं किया और देश की अपनी सीमाओं में विस्तार की कोई अभिलाषा नहीं है।

राजनाथ ने भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) द्वारा आयोजित एक समारोह में कहा, भारत ने कभी किसी देश पर आक्रमण नहीं किया और न ही उसकी अपनी सीमाओं के विस्तार की अभिलाषा है। सुरक्षा बल (सीमा पर) किसी भी स्थिति का मुकाबला करने के लिए सक्षम हैं। राजनाथ ने कहा कि भारत और चीन के बीच डोकलाम में जारी गतिरोध को ‘शीघ्र ही सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘हम युद्ध नहीं, शांति चाहते हैं। भारत के साथ डोकलाम में जारी गतिरोध के बीच चीन ने देश के पश्चिमी हिस्से में सैन्याभ्यास किया है। समाचार पत्र लियान्हे जाओबाओ ने एक चीनी सैन्य अधिकारी के हवाले से कहा कि यह सैन्य अभ्यास ‘भारत में धाक जमानेङ्क के मकसद से किया गया है। सैन्य अभ्यास का संचालन पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की वेस्टर्न थियेटर कमांड ने किया।

अभ्यास के स्थान और समय का खुलासा नहीं किया गया है। चाइना सेंटड्ढल टेलीविजन के मुताबिक, अभ्यास में पीएलए की १० इकाईयों ने भाग लिया। तिब्बत, शिनजियांग, निंगिशया, चिंगहई, सिचुआन और चोंग्किंग नवगठित वेस्टर्न थियेटर कमांड के अधीन आते हैं। जुलाई में पीएलए ने भारत से सटे तिब्बत में सैन्य अभ्यास किया था। चीन का कहना है कि उसकी सेनाएं ‘भारत के साथ सैन्य संघर्ष के लिए तैयार हैं, जिसकी सेनाएं डोकलाम में उसके क्षेत्र में मौजूद हैं।ङ्क भारत-चीन सीमा पर सिक्किम के डोकलाम में भारत और चीनी सेनाओं के बीच तीन महीने से गतिरोध जारी है।जून में भारतीय सेनाओं ने डोकलाम में चीन द्वारा किए जा रहे सडक़ निर्माण कार्य को रोक दिया था। भारत का कहना है कि यह विवादित क्षेत्र है। भारत और भूटान का कहना है कि डोकलाम भूटान का है, लेकिन चीन उस पर अपना दावा जताता है।चीन चाहता है कि भारत डोकलाम से अपनी सेनाएं हटा ले, जबकि भारत चाहता है कि भारतीय और चीनी सैनिक इस विवादित क्षेत्र से एक साथ हटें।