Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

गुवाहाटी (समाचार एजेंसी)ः केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ qसह ने आज यहां कहा कि घुसपैठ और हिन्दू शारणार्थियों के मुद्दे पर विपक्षी पार्टियां जनता गुमराह करने में जुटी हैं।

उन्होंने घुसपैठ और हिन्दू बांग्लादेशियों को नागरिकता प्रदान करने के मुद्देों का सीधे जिक्र किए बिना कहा कि भाजपा असम समझौते के उपबंध छह के मुताबिक  राज्य की मूल जनसंख्या के हितों की रक्षा के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि हम असम समझौते के उपबंध छह के लिए कटिबद्ध हैं और हम उसकी रक्षा करेंगे, चाहे हमें संविधान में संशोधन की क्यों ने करना प‹डे। आज यहां महानगर के श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र में प्रदेश भाजपा की ओर से आयोजित सांगठनिक बैठक में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए qसह ने कहा कि २०० किलोमीटर से लंबी भारत- बांग्लादेश सीमा की सुरक्षा भाजपा सरकार की प्रथामिकता है और अगले डे‹ढ साल में उसे पूरी तरह सील कर दिया जाएगा। हम २२३. ७ किलोमीटर लंबी भारत-बांग्लादेश सीमा को सील करने के लिए कटिबद्ध हैं और यह प्रक्रिया चल रही है। अगले डे‹ढ साल में इसके पूरा हो जाने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि बांग्लादेश हमारा प‹‹डोसी देश है और हमारे बीच मधुर संबंध हैं, जिसे हम जारी रखेंगे और भविष्य में इसके प्रति कटिबद्ध रहेंगे। असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के अद्यतन का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि प्रक्रिया चल रही है तथा राज्य सरकार को इसे शीघ्र पुरा करना चाहिए। उग्रवादी के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि यदि कुछ लोगों या समूह की कोई शिकायत, समस्या या मुद्दा है तो हम उनसे बातचीत के लिए सदैव तैयार हैं, हम उन्हेंं गले लगाने एवं बातचीत करने को तैयार हैं,हम उन्हें गले लगाने एवं बूातचीत करने को तैयार हैं, लेकिन यदि qहसा होगी तो उससे कोई समझौता नहीं किया जाएगा। केंद्रीय गृहमंत्री ने आज दावा किया कि लोगों ने प्रदानमंत्री मोदी के नोटबंदी के फैसले को साहसिक कदम बताते हुए कालेधन एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी ल‹डाई का समर्थन किया है। गृहमंत्री ने कहा कि कालेधन और  भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रधानमंत्री की ल‹डाी शंका से परे हैं और देशवासियों ने शुरूआती दिक्कतों के बावजूद उनके प्रति समर्थन जताकर अपनी ओर से कृतज्ञता प्रकट की है। उन्होंने दावा किया कि नोटबंदी की घोषणा के बाद लोगों को शुरूआत में परेशानियों का सामना करना प‹डा, लेकिन अब उनमें उल्लेखनीय कमी आयी है। qसह ने कहा कि लोगों को एटीएम के बाहर घंटों प्रतीक्षा करनी प‹डी, लेकिन जब उनसे दिक्कतों के बारे में पूछा गया तो कई लोगों ने कहा कि दुश्मनों से देश को बचाने के लिए जब हमारे सैनिक सीमाओं पर अपनी जान दे रहे हैं तो हम कुछ घंटे कतारों में क्यों नहीं ख‹डडे रह सकते हैं। हमारे देशावसियों के पास इस प्रकार का जज्बा है।