Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

Hot News:

Latest News

यात्रियों के लिए बुरी खबर, रेल किराए में हो सकती है ब‹ढोत्तरी

नई दिल्ली (समा.एजें) ११ जनवरी :. रेल से सफर करने वाले यात्रियों को अब ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं. रेल किराए में बढ़ौतरी हो सकती है.

बिरला-सहारा डायरी केस को सुप्रीम कोर्ट ने किया खारिज

नई दिल्ली (समा.एजें) ११ जनवरी : सुप्रीम कोर्ट ने सहारा-बिड़ला डायरी मामले में जांच कराने की मांग वाली एक याचिका को बुधवार को खारिज कर दिया।

धरमखाल सॅनराइजर्स क्लब ने किया सभा का आयोजन

संगीता माला, धरमखाल,१० जनवरीः आज धरमखाल सँनराइर्जस क्लब ने एक सभा का आयोजन किया इस सभा में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थी काछा‹ड की सांसद सुस्मिता देव एवं प्रेमराज ग्वाला इस सभा का संचालन विरेन्द्र धोवी ने किया।

A A A

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार समय-समय पर ग्रहों का अपना स्थान बदलना एवं एक राशि से दूसरी राशि में जाना, सभी जातकों के लिए प्रभावी होता है.

इतना ही नहीं, ये ग्रह जब अपना स्थान बदलते हैं तो इसका असर अजीवित वस्तुओं पर भी देखा गया है. ये ग्रह ना केवल इंसानों के जीवन को प्रभावित करते हैं, वरन् साथ ही देश एवं दुनिया को भी अपनी चपेट में ले लेते हैं.कर्क राशि में शुक्र एवं बुध-खैर हम यहां मौजूदा समय में जिन दो बड़े ग्रहों ने अपनी राशि बदली है, उनके बारे में बात करने जा रहे हैं. ये दो ग्रह हैं शुक्र एवं बुध, दोनों ने ही चंद्रमा की राशि कर्क में प्रवेश किया है.७ जुलाई, २०१६ से शुक्र ग्रह ने मिथुन राशि को छोड़, कर्क राशि में प्रवेश किया है. यह ग्रह यहां २५ दिन तक बना रहेगा और उसके बाद अगली राशि में जाएगा. इसके बाद ११ जुलाई, २०१६ यानि कि आज से ही बुध ग्रह ने भी कर्क राशि में प्रवेश किया है.हालांकि, बुध यहां मात्र १६ दिनों तक ही बने रहेंगे, और २७ जुलाई को कर्क को छोड़ अगली राशि में प्रवेश कर जाएंगे. लेकिन ये दोनों ग्रह मिलकर इस राशि को एवं अन्य सभी ग्यारह राशियों के जीवन को कैसे प्रभावित करेंगे, इसकी चर्चा हम यहां करेंगे.
शुक्र एवं बुध ग्रह का योग-ज्योतिष शास्त्र की नजर से देखें, तो दो खास ग्रह मिलकर हमेशा ही एक योग बनाते हैं. जब भी एक से अधिक ग्रह किसी राशि को प्रभावित करता है, तो वह एक विशेष योग को उत्पन्न करता है. शुक्र एवं बुध ग्रह का योग मित्रता का योग है. मित्र ग्रहों का स्थानांतरण-दरअसल बुध ग्रह, शुक्र ग्रह का मित्र माना गया है. जिसके फलस्वरूप वह वही करता है जो शुक्र ग्रह चाहता है या उससे करवाएगा. हालांकि शुक्र ग्रह बुध ग्रह से अपनी मित्रता नहीं बनाता, वह अपने मुताबिक ही जातक को चलाता है.जानिए क्या होगा प्रभाव-तो इस हिसाब से आज से लेकर आने वाली २७ जुलाई तक सभी राशियों पर खासतौर से शुक्र ग्रह का ही प्रभाव होगा. इस काल में बुध ग्रह का अपना प्रभाव कम ही देखने को मिलेगा.
    लेकिन यदि किसी जातक की कुंडली में बुध ग्रह की प्रत्यन्तर्दशा चल रही है, तो उसे इसके प्रभाव अधिक तीव्र मिलेंगे. इसी तरह से यदि शुक्र ग्रह की प्रत्यन्तर्दशा चल रही है, तो जाहिर है कि जातक का आने वाला यह समय काफी प्रभावी होने वाला है. अब यह शुभ होगा या अशुभ, यह कुंडली में ग्रह की कैसी बैठकी है, इसी पर निर्भर करता है.दो ग्रहों का मेल खैर उपरोक्त बताए गए समय के अनुसार, शुक्र ग्रह एवं बुध ग्रह का मेल सभी बारह राशियों पर क्या प्रभाव लाएगा.
मेष राशि- शुक्र एवं बुध ग्रह के कर्क राशि में जाने से, मेष राशि के जातकों के लिए धन प्राप्ति के अच्छे योग बनेंगे. लेकिन साथ ही कुछ ऐसे संयोग बनते दिखाई देंगे जहां आपको अधिक धन खर्च करना पड़ सकता है. खर्चों में जहां तक संभव हो कटौती कीजिए. इसके अलावा जॉब करते हैं तो कार्यस्थल पर सफलता मिलेगी. प्रेम सम्बन्ध अच्छे बने रहेंगे.
वृषभ राशि-शुक्र एवं बुध ग्रह का स्थानांतरण वृषभ राशि वालों के लिए भी कई मायनों में सही रहेगा. सामाजिक रूप से आप उभरेंगे, आप लोगों को प्रभावित करने में सक्षम रहेंगे. इस दरमियान दोस्तों का सहारा बना रहेगा. साथ ही आपका विवाहित जीवन भी सही रहेगा. कोई बड़ी परेशानी होने की संभावना नहीं है.
मिथुन राशि-मिथुन राशि के जातकों के लिए यह समय थोड़ा धन अभाव वाला रहेगा. क्योंकि शुक्र ग्रह आपसे बहुत खर्चा करवाने वाला है. और यह खर्चा भी व्यर्थ की चीजों पर होगा. लेकिन इसके साथ ही जुलाई माह समाप्त होते-होते कुछ आर्थिक लाभ हो सकता है. इस दौरान कुछ अच्छा होगा तो वह है आपके प्रेम सम्बन्ध, जिसमें यदि चिंताजनक माहौल बना हुआ है तो वह दूर हो जाएगा.
कर्क राशि-शुक्र एवं बुध, दोनों ग्रह ही इस समय कर्क राशि में हैं. इनके आने से इस राशि के जातकों के व्यवहार एवं व्यक्तित्व में बदलाव आएगा. बात करने का तरीका, पहनावा और यहां तक कि इनके चरित्र में भी पहले से कुछ बातें बदली हुई दिखेंगी. लेकिन सब अच्छा ही होगा. आपके इस बदलाव को हर कोई पसंद करेगा.
सिंह राशि-शुक्र का सबसे पसंदीदा घर द्वादश भाव है और आपके द्वादश भाव में शुभ राशि में जब यह आएगा तो आपको अत्यधिक प्रसन्न करेगा. यह आपके प्रेम संबंधों से लेकर शादीशुदा जीवन तक अच्छे फल प्रदान करेगा. किंतु आपके कार्यों में रुकावट आएगी, अर्थात् काम उतनी तेजी से नहीं बनेंगे जितनी कोशिश आप कर रहे होंगे. लेकिन फिर भी आपको कोई बड़ी परेशानी का एहसास नहीं होगा.
कन्या राशि- शुक्र एवं बुध का कर्क में गोचर, कन्या राशि के जातकों के लिए काफी शुभ सिद्ध होगा. आपका आने वाला समय बहुत अच्छा हो सकता है. शुक्र ग्रह प्रेम संबंधों का प्रतीक माना गया है, तो इस दौरान कन्या राशि के ‘सिंगलङ्क लोग अपना प्यार पा सकते हैं, ऐसी संभावना बनी हुई है. इसके अलावा विवाहित लोगों के लिए भी यह उत्तम समय है.
तुला राशि- तुला राशि के जातकों के लिए इन दो ग्रहों का कर्क राशि में आना, बेहतरीन समय लाने वाला है. इस राशि के जातको को उनके कार्यस्थल पर लाभ हासिल होगा. यहां काम करने वाले लोगों से आपके सम्बन्ध बेहतर होंगे और साथ ही आपको अपने सहकर्मियों से सहयोग मिलेगा. इतना ही नहीं, जो लोग ऑफिस में आपकी बुराई करते हैं वे भी आपकी प्रशंसा करने वालों की श्रेणी में आ सकते हैं.
वृश्चिक राशि- कन्या राशि की तरह ही, वृश्चिक राशि के जातकों के लिए भी प्रेम संबंधों में नयी पहल लेकर आएगा शुक्र ग्रह. आपको कोई अलग वर्ग अथवा जाती के जातक से लगाव हो सकता है. इसके अलावा इंटरनेट के माध्यम से आपको प्यार मिलेगा, ऐसी भी संभावनाएं बनी हुई हैं.
धनु राशि- शुक्र एवं बुध का कर्क राशि में आना धनु राशि वालों के लिए थोड़ा हानिकारक सिद्ध हो सकता है. आपको अपने साथी से तो लाभ हो सकता है किन्तु आपका स्वास्थ्य आपके लिए समस्या बन सकता है. इसलिए अपने स्वास्थ्य का पूरा-पूरा ख्याल रखें. क्योंकि थोड़ी भी लापरवाही आपको बड़ी दिक्कत में डाल सकती है.
मकर राशि- मकर राशि के जातकों के लिए ग्रहों का यह स्थानांतरण मिलाजुला परिणाम लाएगा. प्रोफेशनल लाइफ की बात करें तो बहुत बड़ा बदलाव नहीं आएगा. कार्यस्थल पर सब पहले जैसा ही होगा. किंतु प्रेम संबंध अच्छे होने वाले हैं. यदि आप सिंगल हैं तो यही समय है जब आपको कोई साथी मिलेगा.
कुम्भ राशि-कुम्भ राशि के जातकों को ग्रहों के स्थान बदलने के बाद थोड़ा सतर्क रहना होगा. क्योंकि ये स्थानांतरण इन्हें बुरा परिणाम देकर जा सकता है. भाग्य अचानक आपके विरुद्ध हो सकता है किंन्तु अल्प काल के लिए. आपको अपने खानपान पर अधिक ध्यान रखना है और मीठा कम खाना है.
मीन राशि- शुक्र ग्रह अपने इस स्थानांतरण के दौरान मीन राशि के पंचम भाव को लाभ देने वाला है. इससे आपके प्रेम सम्बन्ध अच्छे होंगे. इसके अलावा आप खुश भी रहेंगे. छोटी-छोटी खुशियों से घिरे रहेंगे जो आपके आने वाले २-३ हफ्तों को हमेशा के लिए यादगार बना सकती हैं.
कर्क राशि-शुक्र एवं बुध, दोनों ग्रह ही इस समय कर्क राशि में हैं. इनके आने से इस राशि के जातकों के व्यवहार एवं व्यक्तित्व में बदलाव आएगा. बात करने का तरीका, पहनावा और यहां तक कि इनके चरित्र में भी पहले से कुछ बातें बदली हुई दिखेंगी. लेकिन सब अच्छा ही होगा. आपके इस बदलाव को हर कोई पसंद करेगा.
मिथुन राशि- मिथुन राशि के जातकों के लिए यह समय थोड़ा धन अभाव वाला रहेगा. क्योंकि शुक्र ग्रह आपसे बहुत खर्चा करवाने वाला है. और यह खर्चा भी व्यर्थ की चीजों पर होगा. लेकिन इसके साथ ही जुलाई माह समाप्त होते-होते कुछ आर्थिक लाभ हो सकता है. इस दौरान कुछ अच्छा होगा तो वह है आपके प्रेम सम्बन्ध, जिसमें यदि चिंताजनक माहौल बना हुआ है तो वह दूर हो जाएगा.