Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

Hot News:

Latest News

शलोंग और तुपा में पीए संगमा की मूर्तियां स्थापित की जाएः कोनरा


शिलोंग (समाचार एजेंसी)ः तुरा के सांसद कोनराड के संगमा ने राज्य सरकार से उनके दिवंगत पिता पीए सांग्मा की याद में मूर्तियां  स्थापित करने तथा स‹डकों का नाम पीए संगमा मार्ग रखने की अपील की है। गौरतलब है कि दिवंगत पीए संगमा  को इस साल देश के दूसरे सबसे ब‹डे नागरिक सम्मान पद्म विभूषण पुरस्कार से मरणोपरांत सम्मानित किया गया है। कोनराड संगमा ने इसे  राज्य के लिए ब‹डा गौरव का विषय बताते हुए शिलोंग व तुरा में उनकी मूर्तियां स्थापित करने तथा दोनों जगहों में दो स‹डकों नाम उनके नाम पर रखने की मांग की । कोनराड की  इच्छा तुरा में दिवंगत सांग्मा द्वारा  निर्मित डिक्की बांदी स्टेडियम के सामने पीए संगमा की मूर्ति स्थापित की जाए।

पूर्व विधायक मोतीलाल कानु की धर्मपत्नी लक्ष्‘ीरानी कानु का निधन


प्रे.सं पाथरकांदी २८ अप्रैलः पाथरकांदी के पूर्व विधाङ्मक ‘ोतीलाल कानु की सहधर्‘िणी लक्ष्‘ीरानी अब इस दूनिङ्मा ‘ें नही रही है। कलकलिघाट स्थित निवासस्थान पर इस दूनिङ्मा को छो‹डकर परलोग चली गङ्मी।  ‘ृत्ङ्मु के दौरान वे ८७ वर्ष की थी। गत २२ अप्रैल को उनकी ‘ृत्ङ्मु हुई। वे अपने पीछे पांच पुत्र, तीन पुत्री, नाति-नातिन सहित अनेकों चाहनेवालों को छो‹ड गङ्मे है। उनकी ‘ृत्ङ्मु पर बराक उपत्ङ्मका ‘ध्ङ्मदेशीङ्म वैश्ङ्म स‘ाज के तरह से बाबुल नाराङ्मण कानु, विधाङ्मक कृष्णेन्दु पाल, पूर्व विधाङ्मक ‘णिलाल ग्वाला, लोवाइपूवा भाजपा ‘ण्डल सभापति एच नन्दी, भाजपा नेता कल्प देव, उत्त‘ रिकिङ्मासन सहित विभिन्न संगठनों के तरङ्क से शोक प्रकट किङ्मा गङ्मा है। साथ ही उनके परिवारवालों के प्रति स‘वेदना जाहिर किङ्मा गङ्मा है।

दुल्र्लभछो‹डा हिन्दी विद्यापीठ ‘ें अंशु‘ान पाल की विदाई


प्रेरणा प्रतिवेदन २८ अप्रैलः दुल्र्लभछो‹डा अस्पताल रोड के हिन्दी विद्यापीठ ए‘  ई स्‘ार्ट स्कुल के शिक्षक अंशु‘ान पाल को अन्ङ्मत्र बदलि किङ्मे जाने पर गत २७ अप्रैल को सुबह ११ बजे विद्यालङ्म ‘ें एक सम्‘ान स‘ारोह का आङ्मोजन किङ्मा गङ्मा। प्रधान शिक्षक सुख‘णि सिन्हा की अध्ङ्मक्षता ‘ें आङ्मोजित स‘ारोह ‘ें शिक्षक रघुनाथ साहु, रा‘बिलाश ङ्मादव, बिनोद कु‘ार राङ्म, चन्द्रशेखर पाण्डेङ्म व कृष्णकान्त सिन्हा प्र‘ुख लोगों ने अपना ‘हत्वपूर्ण वक्तव्ङ्म दिङ्मा। अपने संबोधन ‘ें वक्ताओं ने शिक्षक अंशु‘ान पाल की उज्ज्वल भविष्ङ्म सहित लम्बी उ‘्र का का‘ना किङ्मा।
    विदाङ्मी शिक्षक अंशु‘ान पाल ने अपने वक्तव्ङ्म ‘ें अपने सह-कर्‘ी स‘ेत उपस्थित लोगों का आभार प्रकट किङ्मा। उन्होंने छात्र-छात्राओं को ‘न लगाकर प‹ढाई-लिखाई करने के आह्वान किङ्मा। स‘ारोह ‘ें हिन्दी विद्यापीठ ए‘इ स्कुल के सहाङ्मक शिक्षकों व छात्र-छात्राओं के तत्वाबधान ‘ें अंशु‘ान पाल को एक ‘ानपत्र व एक शर्ट-पेन्ट, रा‘सीता की ‘ूर्ति, एक घ‹डी, अनगिनत कल‘ उपहार ‘ें दिङ्मा गङ्मा।

A A A

नई दिल्ली (एजें) ३० नवंबर : विराट कोहली ने महेंद्र सिंह धौनी के एक रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है।

लेकिन मुंबई में होने वाले चौथे टेस्ट मैच में कोहली के पास मौका है ३० साल पुराने बड़े रिकार्ड की बराबरी का। भारत-इंग्लैंड के बीच खेली जा रही मौजूदा टेस्ट सीरीज़ में भारतीय टीम ने २-० की बढ़त बना ली है। भारतीय टीम ने पहले विशाखापत्तनम में जीत की पताका फहराई और अब मोहाली में भी मैदान मार कर इंग्लैंड को पस्त कर दिया। भारतीय टीम की इस सफलता का श्रेय जाता है कप्तान विराट कोहली को। कोहली ने वाइजैग में शतक जमाया और फिर मोहाली में अपनी दमदार कप्तानी से इंग्लिश टीम के होश उड़ा दिए। इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे मैच में जीत के साथ ही बतौर कप्तान भी कोहली के नाम पर एक रिकॉर्ड जुड़ गया है। वो पिछले १६ टेस्ट में कोई मैच नहीं हारे हैं। विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने मोहाली टेस्ट में जीत के साथ लगातार १६ टेस्ट मैचों में अपराजित रहने का रिकॉर्ड बनाया है। इससे पहले भारत १९८५ से १९८७ तक लगातार १७ मैचों में नहीं हारा था। तो मुंबई में होने वाले अगले टेस्ट मैच में भारतीय टीम ३० साल पुराने इस रिकॉर्ड की बराबरी कर सकती है। विराट कोहली ने मोहाली में जीत हासिल कर पूर्व टेस्ट कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के भी एक रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। कप्तान के रूप में पहले २० मैचों में सबसे ज्यादा जीत दर्ज करने के मामले में कोहली ने धौनी की बराबरी की है। धौनी ने शुरुआती २० मैचों में से १२ में जीत दर्ज की थी, कोहली ने भी अपने पहले २० टेस्ट मैचों में से १२ में जीत हासिल की ६ है। जबकि ६ मैच डड्ढॉ रहे हैं तो दो मैच में विराट की सेना को हार का सामना भी करना पडा है।