Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

Hot News:

Latest News

यात्रियों के लिए बुरी खबर, रेल किराए में हो सकती है ब‹ढोत्तरी

नई दिल्ली (समा.एजें) ११ जनवरी :. रेल से सफर करने वाले यात्रियों को अब ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं. रेल किराए में बढ़ौतरी हो सकती है.

बिरला-सहारा डायरी केस को सुप्रीम कोर्ट ने किया खारिज

नई दिल्ली (समा.एजें) ११ जनवरी : सुप्रीम कोर्ट ने सहारा-बिड़ला डायरी मामले में जांच कराने की मांग वाली एक याचिका को बुधवार को खारिज कर दिया।

धरमखाल सॅनराइजर्स क्लब ने किया सभा का आयोजन

संगीता माला, धरमखाल,१० जनवरीः आज धरमखाल सँनराइर्जस क्लब ने एक सभा का आयोजन किया इस सभा में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थी काछा‹ड की सांसद सुस्मिता देव एवं प्रेमराज ग्वाला इस सभा का संचालन विरेन्द्र धोवी ने किया।

A A A

समा.एजें, १० जनवरी : ताजा खबर है कि...चुनाव आयोग में साइकिल पर अपना दावा जताकर लखनऊ लौटे समाजवादी पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि अगले चुनाव में अखिलेश यादव ही मुख्यमंत्री पद का चेहरा होंगे और उनके नेतृत्व में ही चुनाव लड़ा जाएगा!

यह खबर ताजा ही रहेगी इसकी कोई गारंटी नहीं है क्योंकि न्यूज चैनल से भी तेज चल रहा है... कई दिनों से सपा की साइकिल पर कब्जे का संग्राम!

अलग-अलग न्यूज चैनल पर अलग-अलग तेवर और अलग अलग बयान नजर आ रहे हैं! कहीं मुलायम कठोर नजर आते हैं तो... कहीं मुलायम! एक ओर पार्टी है, दूसरी ओर पुत्र! राजनीति के इतिहास में यह पहली जंग है जब सेना के लिए सेनापति लड़ रहे हैं! वैसे तो सेना ही सेनापति के लिए लड़ती आई है... यहां सेनापतियों में कोई विवाद नहीं है, विवाद है तो... सेनापतियों के खास सैनिकों को लेकर! सीएम एक है लेकिन राष्ट्रीय अध्यक्ष दो हैं? कौन असली, कौन नकली? का फैसला थर्ड एंपायर... चुनाव आयोग के हाथ है! 

कमाल की धमाल है... विवाद है भी और नहीं भी... कभी राजनैतिक रस्साकशी पार्टी की प्राब्लम बन जाती है और कभी पारिवारिक परेशानी! एक सीएम, दो अध्यक्ष और तीन-तीनप्रत्याशियों की सूचियों को देखकर मीडिया भी माथा पकड़ लेगा! कौन लड़ेगा? कौन अड़ेगा? चुनाव चिह्न कौन देगा? और कौनसा देगा? इन सवालों के जवाब तो लाजवाब हैं! सवाल एक, जवाब अनेक... एकता में अनेकता और अनेकता में एकता का भव्य प्रदर्शन चल रहा है! उधर, रात को मीडिया से बातचीत में नेताजी ने कहा कि... समाजवादी पार्टी एक ही है. चुनाव के बाद अगले सीएम अखिलेश यादव ही रहेंगे. इसमें कोई कन्फ्यूजन नहीं है. समाजवादी पार्टी ना टूटी है और ना टूटेगी! बेचारा कन्फ्यूज्ड सवाल समझ नहीं पा रहा कि जब सब एक हैं तो इलेक्शन कमीशन में सब लोग काहे मत्था टेकने जा रहे हैं? खैर! जुदाई वाला मिलन या मिलन वाली जुदाई, जो भी चल रहा हो...  सपा के सेनापति इतना भर समझ लें कि इलेक्शन कमीशन ने अगर साइकिल पर ताला लगा दिया तो किसी मास्टर-की से ताला नहीं खुलनेवाला! (पल-पल इंडिया से साभार)