Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

Hot News:

Latest News

केकड़गोल चाय बागानवासियों की रोगटें खड़ी करनेवाली दास्तान 

केकड़ागोल चाय बागान, करीमगंज से विशेष प्रतिनिधि के द्बारा ः आज हमने जो कुछ देखा और सुना बिल्कुल किसी फिल्मी किस्से जैसा था। एक व्यक्ति इतना प्रतापी हो गया कि उसके आतकं से बागान का कोई भी आदमी मुँह खुलने का साहस नहीं करता था।

रेल रोकना वाजिब नहीं आंदोलन के अन्र तरीके भी बहुत हैं- डीआईजी

प्रे.सं.शिलचर, 24 अप्रैल ः दक्षिण असम के पूलिस उपमहानिरीक्षक देवराज उपाध्रार ने पहा़ड लाइन में बार बार रेल रोकने के प्ररास को दुभ्राग्र पूर्न बतारा कि जनता के पास आंदोलन करने व अपनी मांग रखने के बहुत से विकल्प है।

विविध क्षेत्र को एकजुट होकर योजनाबद्ध काम करना होगा ः महेन्द्र शर्मा

प्रे.सं.शिलचर, 24 अप्रैल ः संघ का काम केवल शाखा जाना नहीं, समाज में और भी दायित्व निभाने की जरुरत है।

A A A

नरी दिल्ली.(समा.एजें) 10 मार्च = फ्रांस के राष्ट्रपति इमैन्रुअल मैक्रों और भारतीर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच शनिवार को हुई द्विपक्षीर वार्ता में सुरक्षा और परमाणु ऊर्जा समेत कुल 14 समझौतों पर मुहर लगी.

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारत और फ्रांस के बीच रणनीतिक साझेदारी भले ही सिर्फ 20 वर्ष पुरानी हो लेकिन हमारी सभ्रता और आध्रात्मिक साझेदारी काफी पुरानी है. उदारवादी, समानता और भाईचारे की भावना सिर्फ फ्रांस में ही नहीं है बल्कि इसका उल्लेख भारतीर संविधान में भी है. मैक्रों के भारत दौरे के पहले दिन शनिवार को फ्रांस और भारतीर कंपनिरों के बीच 16 बिलिरन डॉलर के समझौतों पर मुहर लगी है. रह बात फ्रांस के राष्ट्रपति कार्रालर ने एक बरान जारी कर बतारा. चार दिवसीर भारत दौरे पर अपनी पत्नी ब्रिगिट्टे मैरी क्लाउड मैक्रों  और मंत्रिमंडल के वरिष्ठ मंत्रिरों के साथ आए फ्रांस के राष्ट्रपति इमैन्रुअल मैक्रों प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ दिल्ली के हैदराबाद हाउस में मुलाकात की. इससे पहले मैक्रोन ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मिलकर कई मुद्दो पर चर्चा की. 

इससे पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने श्री मैक्रों और उनकी पत्नी ब्रिगित मैरी क्लाउड मैक्रों का राष्ट्रपति भवन में स्वागत किरा. श्री मैक्रों के साथ उनके मंत्रिमंडल के वरिष्ठ सदस्र भी आरे हुए हैं.प्रधानमंत्री ने श्री मैक्रों का हवाई अड्डे पर स्वागत किरा. श्री मैक्रो चार दिन की रात्रा पर कल देर रात रहां पहुंचे. श्री मोदी प्रोटोकॉल तो़डकर उनका स्वागत करने के लिए खुद हवाई अड्डे पहुंचे. फ्रांस के राष्ट्रपति अपनी पहली भारत रात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीर क्षेत्र वाराणसी जाएंगे. मैक्रॉन मोदी के साथ 12 मार्च को वाराणसी पहुंचेंगे. इससे पहले दोनों नेता उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर भी जाएंगे. दोनों नेता वहां पर फ्रांस की कंपनी एनवॉरर सोलर प्राइवेट लिमिटेड और नेडा ने दादरकलां गांव में 650 करोड़ से बने 75 मेगावॉट के सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन करेंगे. मैक्रॉन मोदी के साथ काशी के घाट घूमेंगे. मैक्रॉन के स्वागत के लिए नृत्र संगीत का एक कार्रक्रम भी आरोजित किरा जाएगा. वाराणसी पहुंचने पर मैक्रॉन और मोदी का स्वागत अलग ढंग से किरा जाएगा. जिस रास्ते से प्रधानमंत्री और फ्रांस के राष्ट्रपति गुजरेंगे उस रास्ते पर करीब आठ हजार स्कूली छात्र-छात्राएं फ्रांस एवं भारत के झंडे लहराएंगे. इसके लिए 150 स्कूलों को जिला प्रशासन ने पत्र भेजकर बच्चों को तैरार रहने को कहा है.उन्होंने दोनों देशों के संबंधों को ऐतिहासिक बताते हुए कहा,’मैं समझता हूं कि हमारे बीच बहुत बेहतर तालमेल है. दो महान लोकतांत्रिक देशों के बीच  संबंध ऐतिहासिक हैं. इससे पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने श्री मैक्रों और उनकी पत्नी ब्रिगित मैरी क्लाउड  मैक्रों का राष्ट्रपति भवन में स्वागत किरा. श्री मैक्रों के साथ उनके मंत्रिमंडल के वरिष्ठ सदस्र भी आरे हुए हैं.  

प्रधानमंत्री ने श्री मैक्रों का हवाई अड्डे पर स्वागत किरा. श्री मैक्रो चार दिन की रात्रा पर कल देर रात रहां पहुंचे. श्री मोदी प्रोटोकॉल तो़डकर उनका स्वागत करने के लिए खुद हवाई अड्डे पहुंचे. फ्रांस के राष्ट्रपति अपनी पहली भारत रात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीर क्षेत्र वाराणसी जाएंगे. मैक्रॉन मोदी के साथ 12 मार्च को वाराणसी पहुंचेंगे. इससे पहले दोनों नेता उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर भी जाएंगे. दोनों नेता वहां पर फ्रांस की कंपनी एनवॉरर सोलर प्राइवेट लिमिटेड और नेडा ने दादरकलां गांव में 650 करोड़ से बने 75 मेगावॉट के सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन करेंगे. मैक्रॉन मोदी के साथ काशी के घाट घूमेंगे. मैक्रॉन के स्वागत के लिए नृत्र संगीत का एक कार्रक्रम भी आरोजित किरा जाएगा. वाराणसी पहुंचने पर मैक्रॉन और मोदी का स्वागत अलग ढंग से किरा जाएगा. जिस रास्ते से प्रधानमंत्री और फ्रांस के राष्ट्रपति गुजरेंगे उस रास्ते पर करीब आठ हजार स्कूली छात्र-छात्राएं फ्रांस एवं भारत के झंडे लहराएंगे. इसके लिए 150 स्कूलों को जिला प्रशासन ने पत्र भेजकर बच्चों को तैरार रहने को कहा है.