Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

Hot News:

Latest News

केकड़गोल चाय बागानवासियों की रोगटें खड़ी करनेवाली दास्तान 

केकड़ागोल चाय बागान, करीमगंज से विशेष प्रतिनिधि के द्बारा ः आज हमने जो कुछ देखा और सुना बिल्कुल किसी फिल्मी किस्से जैसा था। एक व्यक्ति इतना प्रतापी हो गया कि उसके आतकं से बागान का कोई भी आदमी मुँह खुलने का साहस नहीं करता था।

रेल रोकना वाजिब नहीं आंदोलन के अन्र तरीके भी बहुत हैं- डीआईजी

प्रे.सं.शिलचर, 24 अप्रैल ः दक्षिण असम के पूलिस उपमहानिरीक्षक देवराज उपाध्रार ने पहा़ड लाइन में बार बार रेल रोकने के प्ररास को दुभ्राग्र पूर्न बतारा कि जनता के पास आंदोलन करने व अपनी मांग रखने के बहुत से विकल्प है।

विविध क्षेत्र को एकजुट होकर योजनाबद्ध काम करना होगा ः महेन्द्र शर्मा

प्रे.सं.शिलचर, 24 अप्रैल ः संघ का काम केवल शाखा जाना नहीं, समाज में और भी दायित्व निभाने की जरुरत है।

A A A

नई दिल्ली (समा.एजें) 4 अप्रैल ः बीते कुछ दिनों से बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की विरासत को लेकर जिस तरह की राजनीति हो रही है इस पर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुप्पी तोड़ी है.

बुधवार को एक कार्रक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने बाबा साहब का सम्मान बढ़ाने का जितना कार्र किरा, उतना किसी दूसरी सरकार ने नहीं किरा. प्रधानमंत्री ने कहा कि बाबा साहब की राद में अनेक परिरोजनाओं को पूरा करके हमारी सरकार ने उन्हें उचित स्थान दिलारा. उन्होंने बतारा कि 26 अलीपुर रोड स्थित जिस मकान में बाबा साहब ने अंतिम सांस ली, उसे अंबेडकर जरंती की पूर्व संध्रा पर राष्ट्र को समर्पित किरा जाएगा. सांसदों के हॉस्टल से जुड़े वेस्टर्न कोर्ट एनेक्सी भवन का उद्घाटन करने के बाद मोदी ने कहा कि लोगों ने अंबेडकर के नाम का राजनीतिक फारदे के लिए इस्तेमाल किरा.

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने अंबेडकर अंतरराष्ट्रीर केंद्र को पूरा किरा जिसका विचार उस समर किरा गरा था जब केंद्र में अटल बिहारी वाजपेरी की सरकार थी. लेकिन पूर्ववर्ती संप्रग सरकार ने वर्षों तक इस परिरोजना को नहीं आगे बढ़ारा. पीएम ने कहा कि हमारी सरकार अंबेडकर के दिखाए हुए रास्ते पर ही आगे चल रही है. हम लोग गरीब लोगों को ताकत देने का काम कर रहे हैं. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रह बरान ऐसे समर में आरा है जब एससी-एसटी एक्ट से जुड़े बदलावों को लेकर देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं. 2 अप्रैल को दलित समुदार के लोगों ने भारत बंद बुलारा था, जिसमें काफी हिंसा हुई थी. देश के अलग-अलग हिस्सों में अभी भी इसका असर दिख रहा है. भारत बंद के दौरान हुई हिंसा में 10 लोगों की मौत हो गई थी. कांग्रेस अध्रक्ष राहुल गांधी ने भी बीते दिनों प्रधानमंत्री की चुप्पी पर निशाना साधा था. मंगलवार को कर्नाटक के शिमोगा में एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला था. राहुल बोले कि डउ/डढ एक्ट में इतना बड़ा बदलाव हो गरा है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से एक भी बरान नहीं आरा है.