Offcanvas Info

Assign modules on offcanvas module position to make them visible in the sidebar.

A A A

कुमार मनोज, लाला, ९ सितंबर : लाला नगर समिति में जारी विभिन्न आर्थिक अनियम, नागरिक सेवा में धांधली तथा टाउन के अन्य कई समस्याओं के सम्बन्ध में हैलाकांदी जिला प्रशासन सेवा कृषक मुक्त संग्राम समिति के बीच द्विपाक्षिक बैठक जिलाधिकारी के कांफ्रेन्स हाल में संपन्न हुई।

जिसकी अध्यक्षता स्वयं डिसी दावलाकापु ने किया। बैठक में लाला शहर की कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा के साथ ही उनके समाधान के लिए नागरिक एवं जिला प्रशासन द्वारा संयुक्त रुप से कदम उठाए जाने का निर्णय लिया गया। गौरतलब ै कि १० हजार की आबादी वाले लाला शहर में पेयजल के मात्र २८४ कनेक्शन है। वही जिला प्रशासन एवं अनशनकारी संस्था केएमएसएस के बीच हुए बातचीत मेंलाला नगर समिति का कोई भी सदस्य हाजिर नहीं था। लाला नगर समिति के सदस्यों ने क्षोभ जताते हुए कहा कि बैठक के स्थल एवं निर्धारित समय में त्रुटि की वजह से ऐसा हुआ। जिसमें नगर समितिकी कोई गलती नही है।

जिला शासक की अध्यक्षता में हुए आज की बैठक में पेयजल की समस्या के संबंध में खुलासा करते हुए विभागीय अभियंता ए.वी.चौधरी ने बताया कि लाला शहर में अवैध पेयजल के गृह कनेक्शन की संख्या ३६०० है। विभागीय अभियंता से प्राप्त तथअयों को सुन हैलाकांदी जिला शासन श्री दावलाकापु दंग रह गये। एक निर्देश में हैलाकान्दी डीसी ने आगामी एक पक्ष काल में सभी अवैध कनेक्शन को वैध कनेक्शन में परिवर्तित करने का निर्देश दिया। अन्यथा सभी अवैध कनेक्शनों को काट दिये जाने का फरमान जारी किया। उन्होंने साफ कर दिया कि लाला नगर समिति नियमित पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध रहेगी। 

वहीं उन्होेंने मार्केट रोड निर्माण  में संघहित आर्थिक अनियमों की जांच के लिए मजिस्ट्रेट स्तर की जांच का निर्देश दिया। जांच की जिम्मेवारी काटलीचेरा के एसडीएम जेम्स आईड को सौंपा गया। इसके साथ ही लाला डेली मार्केट इलाके में अवस्थित लाला पशु चिकित्सालय की अवैध भूमि जबरदखल के मामले की जांच का निर्देश दिया है। इसके साथ ही शहर में यातायात, पार्किंग के अलावा धलेश्वरी नदी पर पुल निर्माण को लेकर भी वार्ता हुई। बातचित में शामिल थे काटलीचेरा के विधायक सुजामुद्दीन लस्कर, केएमएसएस के जिलाध्यक्ष जहिरुद्दीन लस्कर, काटलीचेरा एसडीएो जेम्स आइड, लाला नगर समिति की वाइस चेयरमैन नियति बनर्जी सहित विभिन्न स्तर के प्रतिनिधिगण। देखने वाली बात यह है कि कांग्रेस नेतृत्वाधीन लाला नगर समिति नागरिकों की सुविधार्थ क्या कुछ कदम उठाती है। या फिर पिछले कई बैठकों की तरह ही आज की भी बैठक ढाक के तिन पात की कहावत को ही चरितार्थ करती है।